सेक्स की भूखी आंटी की रसीली चुत

में अमन,, रांची से हु और मेरा ७ इंच का लंड हे काला हे पर अन्दर पूरा पिंक… मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती थी. जिनका नाम परोमिता था. एकदम टाइट माल थी वो. गांड ३६ की थी एकदम फूली हुई और चुचिया ३४ के ब्लाउज से बहार आते हुए.. mastram

उसे देख किसी के भी लंड में पानी आ जाए ऐसा माल थी वो.

मेरी उससे मुलाकात एक रात हुई. जब वो कही से आ रही थी. में उस वक्त मेरी गाड़ी से आ रहा था और वह मुजे रस्ते पर चलती मिल गयी. तो मैने उन्हें पूछा की आप मेरे साथ घर पर चलोगी और वो एकदम रंडियों वाली स्माइल दे कर बेठ भी गई.

बाते सुरु हुई और में ठहरा हरामी किसम का मर्द ब्रेकर पे जोर जोर से ब्रेक लगा के में उनको मुज पर चिपकने पर मजबूर कर रहा था और उनकी नरम चूचो के मजे भी ले रहा था.

उनका घर आ गया और रस्ते में मुझे यह पता चला की वह एक आर्मी वाले की बीवी हे. और बचे नही हे. इस से मुझे अंदाज हो गया मुझे की साली सेक्स की भूखी होगी रांड.

रात को उनके नाम से मुठ मारा. और में उस दिन से उस पर मेरी नजर रखने लगा और वह जब भी मुझे देखती तब में हमेशा स्माइल देता था.

एक दिन हिमत करके उसके घर गया उस दिन सन्डे था. उन्होंने दरवाजा खोला साली माल लग रही थी. में तो उसे दो मिनिट तक आँखे फाड़ फाड़ के देखता ही रह गया

उसने उस समय पर टाइट पिंक नाईटी पहनी हुई थी और उसके बूब्स तो और बूब्स तो जेसे की अभी बहार ही आ जांएगे. मेने अपने होठो को सेक्सी तरीके से चाटा.

उसने मुझे अन्दर बुलाया तो में अंदर जा के बैठ गया और उसके साथ में नोर्मल बात कर रहा था. मेरे पेंट में अब मारा सोया हुआ शैतान जाग रहा था.

साली अब मुझसे रहा नही गया. तो में उठा और किचन में जा कर उसकी गांड पे एक थप्पड़ मार दिया. और बोला आंटी आय लव यु. mastram

अब वह एकदम चकित कर देने वाला जवाब देकर बोली बेटा नजर तो मेरी तुझ पे कब से थी. मुझे तेरे जैसा ही मर्द चाहिए था.

आज रात किटी पार्टी हे. आ जाना सब मेरे जेसी प्यासी औरते होंगी.

मेने कहा अभी कुछ तो दे दो बेबी. उसने बोला तड़प मेरे राजा टाइम आने पे सब मिलेंगा.

मुझसे रहा नही गया. मेने उसके गांड से नाईटी उठा कर गांड दबाने लगा. वो कहरा रही थी आआ हाहाहा हरामी आग लगी हे साले और मुझे नंगा कर दिया. मेरे कपडे जंगली कुत्तिया की तरह फाड़ दिये.

और बोली चल शाम का ट्रेलर दिखाती हु. और मुझे कुत्ते के पटे से बाँध दिया.

और वह मुझे गले से खीचते हुई टॉयलेट में ले गयी. कपबर्ड में मुह खुलवा कर चूत पे पाइप लगा कर मुतने लगी. उम्म और बोली पि हरामजादे आज से तू मेरा कुत्ता बन गया हे. अब से तू मुझे शांत करेगा.

मेरे मुह पे गांड डाल कर बैठ गई. और गांड को दबाने लगी. मुझे मजा आ रहा था. बड़े गांड के बीच में गांड में जीभ डाल कर चाट रहा था. mastram

फिर उसने मेरी गांड पे बेल्ट से मारना सुरु किया. और में भीख मांग रहा था. मालकिन छोड़ दो.

मुझे मजा भी बहुत आ रहा था मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था की वह मेरे साथ ऐसा कुछ भी कर सकती हे. वह मुझे बोली बोली मेरी चूत की आग बुझा दे मेरे पालतू कुत्ते. फिर उसने मेरे लंड पर थूक दिया और उसे चाटने लगी और उसने उसकी चूत को मेंरे मुह में घुसेड दिया.

उसकी चूत की खुशबू बहुत लाजवाब थी और उसकी चूत बहुत टाइट थी मैंने उसकी चूत को चूसा और उस पर मेरे दांत से काट लिया. mastram

और वह साली आह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह कर के मेरे हर काटने को एंजॉय कर रही थी. और फिर वह बोली मेरे राजा मेरी चुदाई इससे अच्छी कही नहीं हो सकती और फिर वह मेरे लंड को तब तक चूसती रही जब तक मेरे लंड से पानी उसका मुंह भर ना गया और मैने उसके मुह में मेरा माल छोड़ दिया.

और फिर वह मेरे लंड को चूसने लगी और फिर उसने मेरे लंड पर बैठ गयी और वह उसकी चूत को मेरे मुह पर घिसने लगी फिर उसने उसका सारा माल मेरे मुंह में डाल दिया और साथ में वह मेरे मुंह में मूत भी गई साली रंडी. मगर मैने उस रंडी के चूत का एक रस का बूंद भी नहीं छोड़ा, सब चाट लिया.

अब उस साली की भूख बहुत बढ़ गई थी. वह मुझे बोली आ जा मेरे राजा आज अपनी चूत की तुज को सेर कराती हु. एक तरह से मैं अभी अपनी वर्जिन हूं क्योंकि मेरे पति के डर से कोई चोदता ही नहीं मुझे.